बुधवार, 3 फ़रवरी 2016

क्या नाम दूँ ?




यह तुम्हारे नर्म एहसासों का बोसा है 
या 
गुदगुदाते आगोश की संगमरमरी उल्फ़त      
या 
बेज़ुबान इश्क़  ...  

- निवेदिता दिनकर 
०३/०२/२०१६ 

तस्वीर :  उर्वशी दिनकर की आँखों ज़ुबानी  "बेज़ुबान इश्क़" 

2 टिप्‍पणियां:

  1. बेजुबान इश्क ... खूबसूरत शब्द और अहसास

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेजुबान इश्क ... खूबसूरत शब्द और अहसास

    उत्तर देंहटाएं