शनिवार, 9 मार्च 2013

फ़ना





Inspired by Oscar Wilde Ouotes " Death must be so beautiful ...."


अब न कोई डर, न कोई पीड़ा 
न हताशा 
न ध्वस्त्ता 
न नादानी 
न कोई नीचता । 
न मिलन 
न समागम 
अब न कोई माशूका 
न कोई हमदम। 
न  व्याध 
न छल 
व्याप्त केवल दिव्य करतल । 
माटी का मानस 
सुवास का संगीत 
अथाह शांति 
और फ़ना अर्जित ॥   
और फ़ना अर्जित ॥   



 निवेदिता दिनकर 

2 टिप्‍पणियां:

  1. सच मौत से प्यारा क्या होगा ...जो सारी उलझनों से बचा कर सुकून दे सके .....बढिया रचना

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शुक्रिया....शिखा .....ऐसी आती रहा करो और मुझे अपने लफ्जो से मालामाल किया करो!!

      हटाएं